बालों का असमय सफ़ेद होना कहीं यह आपकी लापरवाही से तो नहीं ?

44
Tiktok का एक मात्र विकल App "99likes" डाउनलोड करे,जिसे आप वीडियो भी बना सकते है रे
Download 99likes

मनुष्य चाहता है कि उसके बाल उसके सिर पर हमेशा रहें मगर एक उम्र के बाद या तो बाल सफ़ेद होना शुरू हो जाते हैं या झड़ना जिससे आगे चलकर या तो सिर पर एक भी बाल नहीं बचता या बाल पक जाते हैं | यह आमतौर पर किसी को पसंद नहीं है कि समय से पहले उनके बाल सफ़ेद हो जायें या वह गंजे हो जाये | बाल झड़ने के या सफ़ेद होने के कई कारण हो सकते हैं, और आज हम बाल झड़ने के कुछ कारणों के बारे में आपके बताएँगे और इसे रोकने के बारे में भी बात करेंगे |

बाल सफ़ेद होने और झड़ने का कारण बन सकती है धूप-

लोगों का मानना है कि धूप का असर केवल त्वचा पर ही होता है, मगर ये धारणा गलत है | तेज धूप का प्रकोप बालों पर भी पड़ता है और यह बालों को नुक्सान भी पहुँचती है और इससे बाल सफ़ेद होने के साथ-साथ झड़ने भी लगते हैं | मेलानिन नाम का तत्व हमारे शरीर में बनता है जिसके कारण त्वचा पर चमक आती है और बालों का रंग भी काला बना रहता है | मगर धूप में ज्यादा देर समय बिताने से मेलानिन की मात्रा कम हो जाती है जिसके परिणाम स्वरुप बाल सफ़ेद हो जाते हैं और हमारी त्वचा भी टैनिंग की चपेट में आ जाती है जिसको कम करना काफी मुश्किल काम है |

गर्मी के मौसम में धूप में निकलने से शरीर के साथ-साथ सिर में भी पसीना आता है जिस पर अधिकतर लोगों का ध्यान नहीं जाता और हम इसे नज़रअंदाज़ कर देते हैं और ये बालों की जड़ों में सूखता रहता है | सोडियम, जिंक, मैग्नीशियम और अमोनिया युक्त यह पसीना हमारे बालों के लिए बहुत हानिकारक होता है जिसके कारण हमारे बाल झड़ना, कमजोर होना और सफ़ेद होना शुरू हो जाते हैं |

स्कैल्प में जमी गंदगी से भी सफ़ेद होते हैं बाल-

गर्मी के मौसम में पसीना होने पर हमारे बाल गीले हो जाते हैं और हवा में मौजूद धूल, मिट्टी और रेत हमारे बालों पर आकर चिपक जाती हैं जो स्कैल्प पर पड़े-पड़े सड़ने लगती हैं और स्कैल्प को नुक्सान पहुँचाने लगती हैं | बालों में डैंड्रफ (रूसी) होने के कारण भी स्कैल्प को नुक्सान पहुँचता है जिससे बाल झड़ना और सफेद होना शुरू हो जाते हैं | परंतु डैंड्रफ भी स्कैल्प में जमी धुल और गंदगी से आता है और पेट की खराबी से भी कई बार डैंड्रफ की समस्या उत्पन्न होती है |

इस समस्या से बचने के उपाय-

  • धूप में जाते वक़्त छाते का प्रयोग करे या सिर को ढकने के लिए टोपी का इस्तेमाल करें |
  • सिर में पसीना होने पर स्कैल्प को अच्छी तरह से कपड़े से पोछें |
  • शरीर में पानी की कमी न होने दें समय-समाय पर पानी पीते रहें |
  • सप्ताह में 2-3 बार बालों को शैम्पू से अच्छी तरह से धोएँ | सप्ताह में 1 दिन बालों में कंडिशनर लगाएं |
  • बालों के लिए लाभदायक विटामिन ई से भरपूर चीजों का सेवन करें |
  • सप्ताह में 2 बार तेल लगाएं और 2-4 घंटे लगे रहने दें उसके बाद शैम्पू से धो लें, हो सके तो नारियल के तेल का ही प्रायोग करें |
हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते