Tiddi Attack – Rajasthan Madhya Pradesh Gujarat फसल को हुआ नुकसान किसान हो रहे परेशान

53
Tiktok का एक मात्र विकल App "99likes" डाउनलोड करे,जिसे आप वीडियो भी बना सकते है रे
Download 99likes

देश में आजकल tiddiyo का हमला हो रहा है और इससे फसलों को काफी नुकसान हो रहा है | राजस्थान में लगभग एक लाख हेक्टेयर में लगी फसल को टिड्डियों ने पूरी तरह से नष्ट कर दिया | इसके अलावा, मध्यप्रदेश, यू.पी. एवं गुजरात जैसे प्रदेशों में भी इनका प्रकोप है | अब खबर मिली है कि यह टिड्डियों का दल महाराष्ट्र और बिहार की तरफ बढ़ रहा है और हरियाणा को भी चपेट में ले सकता है |

इन सब को देखते हुए नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा कीटनाशक दवाओं का छिड़काव करने के लिए मंज़ूरी प्रदान की है एवं इस कार्य को करने के लिए 2 कम्पनीज को भी नामांकित किया गया है | इसके अलावा केंद्र के कृषि मंत्रालय द्वारा टिड्डियों के हमले को काबू में करने के लिए गुजरात को 1.80 एवं राजस्थान को 14 करोड़ की राशि प्रदान की है | बता दें कि राजस्थान में इससे प्रभावित जिलों की संख्या सबसे अधिक है एवं उसके बाद मध्यप्रदेश का नाम आता है | पंजाब और गुजरात में भी कुछ जिले हैं जहाँ टिड्डियों ने हमला किया |

हरियाणा में टिड्डियों के हमले को देखते हुए सात ऐसे जिले चुने गए हैं जहाँ हाई अलर्ट घोषित किया गया है | यहाँ के संजीव कौशल (कृषि मुख्य सचिव) ने बताया कि जिलों में पर्याप्त मात्रा में कीटनाशक उपलब्ध हैं एवं किसानों को पूर्व सूचना प्रदान की जा चुकी है | बता दें कि फतेहाबाद, भिवानी, हिसार, सिरसा जैसे सात जिलों में हाई रिस्क है |

उत्तर प्रदेश में इनका आतंक आरंभ हो गया है और सोनभद्र जिले के अंतर्गत आने वाले घोरवाल के तहसीली क्षेत्र में टिड्डियों ने आतंक फैला दिया है | जानकारी के अनुसार अभी तक दो एकड़ की फसलों को टिड्डियों द्वारा नष्ट कर दिया गया है | झाँसी में कीटनाशक दवा के इस्तेमाल के बाद टिड्डियों को मारने में सफलता प्राप्त हुई |

ओमप्रकाश (कृषि आयुक्त, राजस्थान) ने बताया कि राजस्थान में लगभग 90,000 हेक्टेयर में फैली कृषि भूमि को नुकसान पहुंचा है और यह बीस जिलो में देखने को मिला है | वहां के विभाग द्वारा टिड्डियों को नियंत्रित करने के लिए अभियान भी चलाया और इसके लिए करीब आठ सौ ट्रैक्टर्स का उपयोग किया जा रहा है | 200 दल पूरी तरह से सक्रिय हैं और उनके द्वारा सर्वेक्षण के साथ साथ मुफ्त कीटनाशक भी बांटे जा रहे हैं |

महाराष्ट्र में भी कुछ ऐसा ही हाल दिखाई दिया यहाँ भंडारा में हमला करने के बाद टिड्डियों के दल ने गोंदिया की तरफ रुख कर लिया है | रवि भोंसले (संयुक्त निदेशक, कृषि विभाग) के अनुसार अधिकारीयों को इसके बारे में अलर्ट किया गया है और भंडारा में आने वाले ग्राम तेमानी में एक कि.मी. के इलाके में दवा का छिड़काव भी हुआ है क्योंकि यहाँ पर आम को सबसे ज्यादा नुकसान हुआ |

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते