ऊषा जगदाले या कहो Wire Woman – जो बिजली के खंभे पर सीढ़ी के बिना तेजी से चढ़ती है – लोगों को बिना किसी रूकावट के बिजली सुविधा देना चाहती है!

613
Facebook
Twitter
Pinterest
WhatsApp

आज दुनिया में लगभग सारे काम ऐसे है जो पुरुष कर सकते है और महिला नहीं। आख़िर दोनों है तो इंसान ही तो – “महिलाएं पुरुषों के बराबर नहीं है इस बात को गलत साबित किया है कई महिलाओं ने”। 

ऐसे ही एक मिसाल फिर से एक वुमन ने कायम कि है नाम है ऊषा जगदाले जिसका वीडियो ट्विटर पर Trending  है। वह महिला बिजली के खंभे पर बिना सीढ़ी पर आसानी से चढ़ गई फिर पॉवर सप्लाय ठीक कर उसी फूर्ति से उतरती भी दिखाई दी। Coronavirus के लोकडाउन के कारण बिजलीकर्मी समय पर जगह पर नहीं पहुंच सकते थे तब महाराष्ट्र के ही बीड जिले में रहने वाली महिला लोगों की मदद कर पॉवर सप्लाय की शिकायतें दूर की थीं।

बिना किसी सीढ़ी के बगैर तेज़ी से खंभे पर और करती लोगो की परेशानी दूर!

वह खंभे पर तेज़ी से चढ़ जाती है और उतनी ही फुर्ती से समस्या का हल कर नीचे आती है। सीढ़ी के बिना चढ़ ती है और Safety equipment के बगैर ही टूटी हुई तारें भी जोड़ लेती है। लोग अचंभित भी थे क्योंकि, कभी ना तो पहले किसने सुना था ना किसी ने देखा कि कोई महिला सीढ़ी के बगैर चढ़ जाए और कनेक्शन या तार बिना किसी सामग्री के ठीक कर पाए।

11 Gold medal जीते है – 

यह वायार वुमन महाराष्ट्र स्टेट इलेक्ट्रिसिटी डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी लिमिटेड में लाइन वुमन का काम करती है। वह बचपन से ही खेलों में माहिर थी और उन्हें खेलना पसंद भी है यह तो इनके 11 गोल्ड मेडल जीतने और महाराष्ट्र  स्टेट लेवल खो-खो टीम की कैप्टन भी रह चुकी है उससे ही पता चल जाता है।

स्पोर्ट्स कोटे से ही उषा का टेक्नीशियन की नौकरी के लिए चयन हुआ। उन्हें ऑफिस का काम दिया किन्तु, उषा ने ऑफिस के काम के बजाय फील्ड में जाकर काम करना पसंद किया ताकि लोगों को बिना किसी रूकावट के बिजली की सुविधा मिल सके।

इन्हे सोशल मीडिया पर काफी पसंद किया जा रहा है कुछ सेकंड्स में ही हजारों व्यूज आने लगे थे। यह महिला ने फिर एक बार सबको बता दिया कि अगर इंसान चाहे तो कुछ भी कर सकता है।

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते