Corona में इलाज के लिए हुए मोहताज नामी हॉस्पिटल्स ने किया इनकार जिसके कारण गई जान

105
Tiktok का एक मात्र विकल App "99likes" डाउनलोड करे,जिसे आप वीडियो भी बना सकते है रे
Download 99likes

कोरोना काल अपने चरम पर है और इस समय डॉक्टर्स को सर्वोपरि माना जा रहा है परन्तु कुछ अमानवीय घटनाएँ भी सामने आ रही है | काफी सारे निजी अस्पताल मरीजों को लौटा रहे हैं जिसके चलते गंभीर समस्या उत्पन्न हो रही है | नॉएडा में एक नया मामला आया जहाँ पर इलाज नहीं मिलने से महिला एवं पुरुष की मृत्यु हो गयी | महिला को काफी सारे अस्पतालों में ले जाया गया पर दिल्ली से लेकर गाज़ियाबाद तक उसका उपचार नहीं हुआ | महिला का नाम ममता है और वह प्रताप विहार की निवासी थी और बताया गया है कि उसे दिल से जुडी बीमारी थी | रविवार को सुबह उसके चेस्ट में काफी दर्द उठ गया और परिजनों द्वारा एम्बुलेंस बुलाई गयी मगर एम्बुलेंस नहीं पहुंची इसलिए वहां के लोकल नेता द्वारा एम्बुलेंस का इंतजाम किया गया |

सबसे पहले महिला को GTB हॉस्पिटल पहुँचाया गया परंतु वहां उसका उपचार करने से इनकार कर दिया गया | इसके बाद एम्स, RML एवं सफदरगंज जैसे अस्पतालों ने भी हाथ खड़े कर दिए | 4 बजे शाम को जैसे तैसे MMG ने केस लिया पर वहां से भी मेरठ के मेडिकल कॉलेज जाने के लिए कहा गया | मेरठ जाते वक़्त एम्बुलेंस में ही महिला ने प्राण त्याग दिए | ऐसी ही घटना शुक्रवार को घटी जहाँ पर एक खोड़ा निवासी गर्भवती महिला का उपचार ना होने पर उसकी मृत्यु हो गयी थी |

 

58 साल के व्यक्ति भी हुए मृत्यु को प्राप्त-

उपरोक्त घटना के जैसी ही घटना फिर देखने को मिली जहाँ आज़ाद विहार निवासी कोरोना से संक्रमित थे और उनकी आयु 58 साल थी | संदीप रावत (बेटा) के अनुसार 5 जून के दिन वह अपने पिता को प्राइवेट हॉस्पिटल ले गए और डॉक्टर्स ने जांच करने की बात कही | नमूने लेने के बाद उन्हें कहा कि क्वारंटाइन ज़रूरी है पर फिर जाने के लिए कहा | इसके उपरांत एक और हॉस्पिटल ले जाया गया पर वहां भी ऐसा ही हुआ | रविवार को संदीप के पिता सांस लेने में तकलीफ महसूस करने लगे और जैसे ही उन्हें एम्बुलेंस में लेकर जिला अस्पताल के लिए निकले वैसे ही उनके प्राण निकल गए | बाद में उन्हें सूचित किया गया कि उनके पिता कोरोना से पीड़ित थे पर रिपोर्ट नहीं दी गयी |

CMO का बयान-

डॉ. एन.के. गुप्ता (CMO) ने महिला के केस के बारे में बताया कि खबर प्राप्त होते ही उनको MMG भेजा गया था परंतु वहां से मेरठ के लिए रेफर किया | एम्बुलेंस के केस में उन्होंने जांच के आदेश दिए हैं |

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते