नयी EVM Machine से होगा मतदान धांधली के आरोपों पर लगेगा विराम

73
Tiktok का एक मात्र विकल App "99likes" डाउनलोड करे,जिसे आप वीडियो भी बना सकते है रे
Download 99likes

बिहार में होने वाले विधानसभा चुनावों पर एक काफी एहम खबर सामने आई है | इस बार इलेक्शन में एक नयी EVM (इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन) का प्रयोग होने वाला है | इस मशीन का नाम M3 है एवं एच.आर. श्रीनिवास (मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, बिहार) द्वारा इस सिलसिले में जिले के प्रत्येक निर्वाचन से जुड़े अधिकारीयों को निर्देश दे दिए गए हैं | सेंट्रल इलेक्शन कमीशन ने इस मशीन को लेकर सारी जांचे पूर्ण की उसके बाद ही इसे इस्तेमाल के लिए उपलब्ध कराया है | ज्ञात को कि M2 अभी तक चलन में थी और हर चुनाव में इसके द्वारा वोटिंग होती थी |

मध्यप्रदेश, आंध्र एवं उत्तर प्रदेश से आएगी नयी EVM-

एच.आर. श्रीनिवास ने बताया कि मध्यप्रदेश, आंध्र एवं उत्तर प्रदेश से आएगी नयी EVM क्योंकि वहां पर इनसे चुनाव करवाए गए हैं | 2019 में जब यू.पी. में लोक सभा के चुनाव हुए थे उस दौरान भी इन्ही मशीनों का प्रयोग किया गया था | एक मशीन में तीन सौ चौरासी (384) प्रत्याशियों की सूचना स्टोर हो जाती है |

छेड़छाड़ करना है मुश्किल-

अक्सार चुनाव में हारने पर EVM मशीन पर ही आरोप लगते हैं परंतु इस नवीन EVM के ऊपर शिकायत का प्रतिशत काफी कम होगा | यह मशीन सिंगल टाइम प्रोग्रामिंग चिप के साथ आएगी एवं इसका सॉफ्टवेयर पूर्णतः सुरक्षित है जिसे पढना मुमकिन नहीं है | इसके अलावा इसको इन्टरनेट के साथ साथ अन्य लोकल नेटवर्क पर भी नहीं जोड़ा जा सकता | इसके अलावा भी अगर छेड़छाड़ होती है तो यह अपने आप फोटो खींच लेगी और इसके उपरांत बंद हो जाएगी इसलिए इससे छेड़छाड़ करना मुश्किल है |

धांधली के आरोपों में आएगी कमी-

नयी मशीन में यह समस्या नहीं आएगी कि वोट  किसी को गया और पर्ची किसी दूसरे की आ गयी | जैसे ही EVM का बटन दबाया जायेगा तो VVPAT जो इसके साथ जुड़ा है उसे एक स्लिप बाहर आ जाएगी और इसपर जिस को भी वोट गया है उसका नाम एवं चिन्ह आ जायेगा | इससे धांधली की शिकायत पर लगाम लगेगा और मिलान आसान हो जायेगा |

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते