उत्तराखंड में फटा बादल- भारी बारिश से मकान बहे, 3 की मौत 7 लापता

72

शनिवार रविवार की दरम्यानी रात अतिवृष्टि से गैला गांव में मकान ढहने से 2 महिला और 1 पुरुष सहित 3 लोगों की मौत हो गई | मृतकों में शेर सिंह, गोविंदी और ममता शामिल हैं | इस हादसे में तीन व्यक्ति लापता भी बताये जा रहे हैं, जबकि 5 लोग गंभीर रूप से घायल हैं, जिन्हें उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है |

टांगा गांव में भूस्खलन होने के कारण पहाड़ी मलबे के साथ तीन मकान बह गए हैं, इस घटना में सात लोग लापता बताये जा रहे हैं। तहसील अंतर्गत एक दर्जन से अधिक गांवों में बादलों ने कहर बरपाया है, प्रशासन द्वारा लोगों को दूसरी जगहों पर सिफ्ट किया जा रहा है |

मौसम विभाग ने जारी किया येलो एलर्ट-

डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट विजय कुमार जोगदंडे के अनुसार मुनस्यारी की और जाने वाली दोनों सड़कें बंद हैं। प्रभावित क्षेत्र में एसडीआरएफ और मेडिकल टीम को तैनात किया गया है। वहीं मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बदरीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री, हेमकुंड साहिब सहित पांच जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी किया है |

21 और 22 जुलाई को केदारनाथ, बदरीनाथ, गंगोत्री, यमुनोत्री, हेमकुंड साहिब के यात्रा मार्गों पर भारी बारिश का यलो अलर्ट जारी किया गया है। इस दौरान कई स्थानों पर भारी बारिश से भू-स्खलन का भी खतरा बताया गया है। वहीं बदरीनाथ राजमार्ग के  पीपलकोटी स्थित भनेरपाणी में चट्टानों के गिरने से सड़क दो दिन से बंद है, जिससे रास्ते में फंसे यात्रियों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते