जब Yogi Adityanath ने छोड़ दी थी BJP

195
Tiktok का एक मात्र विकल App "99likes" डाउनलोड करे,जिसे आप वीडियो भी बना सकते है रे
Download 99likes

Viral Story : ये बात अक्टूबर 2005 की है, एक UP का माफिया है जिसका नाम  मुख़्तार अंसारी है.. वो खुली जीप में हथियार लहराते. मऊ में साम्प्रदायिक दंगा करवा रहा था.और 3 दिन बीत चुका था दंगे को. उस वक़्त UP के CM मुलायम सिंह यादव  थे…
और वो कई दफ़ा ये भी बोल चुके थे कि

“मुझसे बड़ा गुंडा इस UP में नही है…” ये बात वो सिंर्फ़ योगी जी के लिये बोलते थे।
जब दंगे को का तीसरा दिन था तो प्रशासन और UP के CM इस दंगे पे कुछ भी न कर रहे थे… मूक दर्शक बने बैठे थे…

योगी जी ने राजनाथ जी को चुनौती दे दि।

तब मऊ से 64 KM दूरी पे गोरखपुर में बैठे योगी जी को ये दंगा बर्दास्त न हुआ और वो BJP के सारे बड़े नेता… अटल जी, आडवाणी जी, मुरली जी और राजनाथ जी को सीधा चुनोती दे दिये, अगर BJP के सारे कार्यकर्ता मेरे साथ मऊ नहीं गये तो परिणाम बहुत बुरा होगा।।

दंगा तो मैं अपने बल पे भी रोक लूँगा…पर ऐसे हत्यायों को अगर BjP पार्टी बस देख के चुप रहेगी तो मुझसे बर्दास्त न होगा और मैं BJP छोड़ दूँगा…

BJP के सारे नेताओ को योगी जी के इस बात से पसीना आ गया… पर BJP के सारे नेता हिम्मत ही नही जुटा पा रहे थे इस दंगे को जा के रोकने का,
वजह सिंर्फ़ एक था. मुलायम सिंह यादव

क्योंकि इस BJP के सारे नेताओ को पता था, की जब अयोध्या में कार्यसेवकों पे ये मुलायम गोली चलवा सकता है. जो कार्यसेवक पूरे देश से आये थे तब ये गोली चलवा दिया.

तब ये तो एक छोटे से शहर में दंगा को रोकने जाना है, जहाँ दंगा करवाने वाला भी एक कुख्यात अपराधी है.
इन दोनों से बच पाना तो मुश्किल है. और इस घटना में बहुत से BjP के कार्यकर्ता मारे जायेगे,

तब ये सारे विरिष्ठ नेता धीमे से कन्नी काट लिये योगी जी से. क्योंकि उनको लगा ये योगी बिना BJP के कार्यकर्ताओं के वहाँ जा ही नही सकता है. क्योंकि मुख्तार अंसारी पिछले 2 साल से योगी जी को मरवाना चाहता था, और असफल भी कई दफा हुआ है… योगी जी अकेले तो वहाँ नहीं जायेंगे,

पर योगी जी भी कम जिद्दी नही थे… वो अपने आश्रम से सिंर्फ़ 3 गाड़ी ले के चल दिये मऊ…

योगी जी मऊ जा रहे दंगा रुकवाने

फिर क्या जैसे ही गोरखपुर के लोगो को और गोरखपुर से मऊ के बीच के लोगो को पता चला योगी जी मऊ जा रहे दंगा रुकवाने… सारे लोग योगी जी के साथ हो लिये क्योंकि सबको पता था, अगर योगी जी अकेले गये तो ये मुख्तार जान से मरवा देगा…

मऊ पहुँचते पहुँचते 140 से 160 गाड़ियों का काफिला हो गया, और मऊ में घुसते ही जब सारी गाड़ी आगे निकल रही थी, तभी उनके अंतिम 8 गाड़ियों पे पेट्रोल बम फेंका गया जो सिंर्फ़ 2 गाड़ियों पे पड़ा. जब सारे लोग गाड़ी से उतरने लगे तो ये पेट्रोल बम फेंकने वालों को मौत का ख़ौफ़ लगने लगा और वो सभी भागने लगे…
और CM मुलायम सिंह यादव साफ शब्दों में बोल दिये थे अगर योगी मऊ पहुँचा तो अरेस्ट कर लिया जाये…

तभी प्रशासन भागे भागे योगी जी के काफ़िले की तरफ पहुँचा, प्रशासन के भी हाथ पांव फूलने लगा इतना काफ़िला देख के… इस प्रशासन की हिम्मत ही न हुआ कि अरेस्ट कर सके…

फ़िर उसी दिन मऊ का दंगा खत्म भी हुआ….
वजह जानते हो क्यों? क्योंकि यही प्रशासन जब CM मुलायम को ये बताया कि अगर हम योगी जी को अरेस्ट करेगे तो, ये काफ़िले के लोग हम लोगो को जान से मार देंगे, और मुख्तार को भी नही छोड़ेंगे,

और दंगा खत्म होने पर योगी जी BJP छोड़ दिए।

फिर दंगा खत्म होने के बाद ये योगी जी BJP छोड़ दिये पर Bjp इनका स्तीफा नही ले रही थी… बड़ा मनाया जा रहा था, की योगी जी आप BJP न छोड़े, राजनाथ सिंह जी लगातार फोन करते कि मैं आ रहा गोरखपुर बात करता हूं आप से तब ये राजनाथ जी को सीधे बोल दिये गोरखपुर में कदम भी मत रखना,

तब अटल जी बड़े विचलित थे कि पूर्वांचल का एक ही तो नेता था अगर वो BJP छोड़ देगा तो कैसे चलेगा, तब आडवाणी जी गोरखपुर पहुँचे,पहुँचे बहुत मनाया गया, 2 दिन बाद माने योगी जी,

अब सोच लो दंगाईयों ये योगी जब कोई मंत्री, CM न रह के दंगाइयों और माफियों को भगा सकता है… और BJP को लात मार सकता है, तो जरा सोचो अब तो ये प्रदेश का CM बन के बैठा है… ये क्या से क्या न करवा दे।

एक बात जान लो ये योगी जी है कोई मोदी जी नहीं… 900 लोगो में से कुछ को जेल कुछ को ऊपर तेल लेने भेज चुके है… कुछ तो दूसरे प्रदेश में भाग गये है…
अब सोच लो तुम सब क्या करना है,,

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते