Mycobacterium W का क्लिनिकल ट्रायल में मिला अच्छा परिणाम- AIIMS Bhopal में ठीक हुए कोरोना मरीज़

415
Facebook
Twitter
Pinterest
WhatsApp

AIIMS (ऑल इंडिया इंस्टिट्यूट और मेडिकल साइंस) भोपाल द्वारा एक सूचना जारी की है जिसमे कोरोना के लिए एक कारगर दवा के बारे में बताया गया है | उनके अनुसार माइकोबैक्टीरियम डब्ल्यू नाम की दवा जब कोरोना पीड़ितों को दी गयी तो इसके परिणाम अच्छे आये | सूत्रों के मुताबिक AIIMS भोपाल इस दवा को लेकर क्लिनिकल ट्रायल कर रहा है | सरमन सिंह (निदेशक, AIIMS) ने भी इस बात को बताया कि क्लिनिकल ट्रायल के दौरान तीन कोरोना पॉजिटिव लोगों को माइकोबैक्टीरियम डब्ल्यू दी गयी और वह लोग ठीक भी हुए हैं |

 

प्रो. सरमन के अनुसार भोपाल AIIMS में बीते कुछ दिनों से माइकोबैक्टीरियम डब्ल्यू पर परीक्षण चल रहा है और इसके नतीजे बढ़िया हैं | उनके अनुसार कुल 4 मरीजों को यह दवा दी गयी जिनमे से तीन लोग पूर्ण रूप से स्वस्थ हो चुके हैं एवं उन्हें छुट्टी भी मिल चुकी है |

 

इसके अलावा प्रो. सरमन सिंह ने यह भी बताया कि फेवीपिराविर का परीक्षण भी मरीजों पर जल्द ही शुरू किया जाएगा | उन्होंने बताया माइकोबैक्टीरियम डब्ल्यू को अभी दवा कहा जा रहा है वरना पहले यह वैक्सीन मानी जाती थी | इसका अभी भी क्लिनिकल ट्रायल ही चल रहा है और अगर यह सफल हुआ तो इसको कोरोना की दवा के रूप में इस्तेमाल किया जाएगा |

 

ज्ञात हो कि माइकोबैक्टीरियम डब्ल्यू कुष्ठ रोग में भी काम आती है | DCI (ड्रग कंट्रोलर और इंडिया) और CISR को भी इस दवा के परीक्षण की अनुमति मिल चुकी है | इसके उपरांत AIIMS भोपाल को मिली और अब तीन जगहों पर इसका क्लिनिकल ट्रायल चल रहा है | सूत्रों के मुताबिक इस दवा से इम्यून सिस्टम दुरुस्त होता है |

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते