चीन बन रहा है जानलेवा SCAM – लोगों के घर आ रहे है बीजो के पैकेट – सरकार ने जारी किया Alert !

216

चीन से नए संकट को फैलता देख – कृषि मंत्रालय ने सभी लोगो और राज्य सरकारों को चेतावनी दी। दरअसल चीन के द्वारा डाक के जरिए देशो में लोगो के घरो में बीजों से भरे  रहस्यमय पैकेट आ रहे है। मंत्रालय का कहना है कि यह दूसरे देशों की जैव-विविधता को नुकसान पहुंचाने की साजिश हो सकती है। 

कृषि मंत्रालय मुस्तैद – 

किन्तु, अच्छी बात यह है की भारत में अभी ऐसा कोई पैकेट नहीं आया है। परन्तु, फिर भी कृषि मंत्रालय इसको लेकर मुस्तैद है। मंतालय के अनुसार यह रहस्यमय पैकेट किसी देश की जैवविधिता के लिए खतरा हो सकते है। पिछले हफ्ते ही कृषि मंत्रालय ने फसलों से जुड़ी सभी संस्थाओं को सतर्क रहने की सलाह दी है। सतर्क रहने को इसलिए जारी किया है क्योंकि, अमेरिका, ब्रिटेन, न्यूजीलैंड, जापान और कई यूरोपीय देशों के लोगों के पास चीन से ऐसे कई पैकेट पहुंच चुके है। 

कृषि मंत्रालय का कहना – 

पिछले महीनों में बीजों से भरे हज़ारों रहस्यमय पैकेट दुनिया के कई देशों में चीन से भेजे गए है। यूनाइटेड स्टेट्स के कृषि मंत्रालय ने इन पैकेट्स को ‘Brushing Scam’ और ‘Smuggling’ बताया है। 

ख़बरों के अनुसार – 

इन पैकेट्स में घातक प्र​जाति के बीज हो सकते हैं या इनके द्वारा कोई रोग जनक तत्व या बीमारी फैलाने वाले बिज़ मौजूद हो सकते है। इतना ही नहीं, इन बीजों से देश के पर्यावरण, कृषि पारिस्थितिकी और राष्ट्रीय सुरक्षा पर भी भारी खतरा मंडरा सकता है। 

सतर्क रहे सुरक्षित रहे – 

तेलंगाना राज्य बीज विकास निगम के प्रबंध निदेशक के केशवु का कहना है की – 

बीज कंपनियां कई देशों में बीजों का आदान-प्रदान करती रहती है। किन्तु, ऐसे विचित्र बिज़ यदि भारत में आते है तो तेजी से फैल जाएंगे और हमारी पारिस्थितिकी और जैव-वि​विधता को नष्ट कर सकते है। हिन्दुस्तान काफी बड़ा देश है तो हमें अधिक सावधानी बरत नी होगी और सतर्क रहना होगा। 

चीन ने दी सफाई – 

चीन ने साफ़ इंकार कर दिया है। चीन के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता Wang Wenbin ने पिछले महीने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा था कि चीन में तो डाक से बीज भेजने पर रोक है। उनका कहना है कि इन रहस्यमय पैकेटों पर जो चीनी Ads दिए गए है वह फेक है। 

आखिर कब अपनी हरकतों से बाज आएगा चीन ? विश्व के जिन देशो में यह अनुमान लगाया है वह सब जूथ और चीन सच बोल रहा है? पहले कोरोना और अब यह?

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते