चीन और पाकिस्तान ने भारत के खिलाफ जैविक युद्ध की साजिश रची – 3 साल के लिए किया गुप्त समझौता।

303
Facebook
Twitter
Pinterest
WhatsApp
Tiktok का एक मात्र विकल App "99likes" डाउनलोड करे,जिसे आप वीडियो भी बना सकते है रे
Download 99likes

एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि भारत और उसके अलावा पश्चिमी देशो के खिलाफ पाकिस्तान और चीन रच रहे है साजिश। दावे में दम है क्योंकि कोरोना वायरस में कहा गया है कि वो चीन कि वुहान लैब से ही निकला है। 

चीन और पाकिस्तान एक साथ मिल के भारत और अन्य पश्चिमी देशो के खिलाफ बायोलॉजिकल वारफेयर मतलब जैविक युद्ध कि साजिश रच रहे है – दोनों ही देशो ने इसके लिए 3 साल से एक गुप्त डील कि है। यह दावा एक रिपोर्ट में बताया गया है। इसमें कहा जा रहा है कि साजिश के तहत एंथ्रेक्स जैसे खतरनाक वायरस पर काम किया जाने वाला है। 

रिपोर्ट में दावे काफी मजबूत नज़र आये। 

दरअसल कुछ ही दिन पहले अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने बताया कि कोरोना वायरस चीन की वुहान लैब से आया है और अमेरिका के पास इसके मौजूदा सबूत है। 

किसका दावा और क्या?

यह रिपोर्ट क्लाजॉन नाम के यूनिट ने ख़ुफ़िया सूत्रों के हवाले से दावा किया है। सिक्योरिटी एक्सपर्ट अन्थोनी क्लानने इस पर एक आर्टिकल भी लिखा। न्यूज़ एजेंसी ने इसे पब्लिश किया।

तो ऐसा है क्या रिपोर्ट में?

इसके अनुसार – वुहान की जिस लैब से कोरोना वायरस के निकलने का दावा अमेरिका कर रही है, वह उसने पाकिस्तान के साथ मिल के जैविक युद्ध  की तैयारी की साजिश रची और शुरुआत कर दी है। निशाने पर भारत के अलावा अन्य पश्चिमी देश जैसे अमेरिका भी है। देशो का संक्रामक बीमारियों का निशाना बनाने की थी साजिश। रिसर्च का खर्च – चीन की वुहान लैब ही उठाएगी। 

जैविक हथियारों की बनाई साजिश। 

रिपोर्ट में एक इंटेलिजेंस सूत्र से बताया गया कि एंथ्रेक्स जैसे वायरस का इस्तेमाल हथियार के तौर पर किया जा सकता है। इस पर पाकिस्तान और चीन 3 साल कि गुप्त डील कर चुके है।  जैविक हथियार तैयार होंगे। इसके लिए जरूरी मिट्टी के टेस्ट कर दिए गए है। चीन ने पाकिस्तान के वैज्ञानिको को इस कि डेटा और दूसरी जरुरी जानकारी जारी करा दी है। 

पाकिस्तान के कंधे पर रखी चीन ने अपनी बन्दुक। 

ख़ुफ़िया सूत्रों द्वारा – चीन ने पाकिस्तान का इस्तेमाल भारत के खिलाफ करने कि साजिश रच दी है। ख़ास बात तो यह है कि भारत और पश्चिमी देशो कि इंटेलिजेंस एजेंसीज को इस बारे में जानकारी दे दी गई है। चीन अपने यहाँ इन साजिशो को अंजाम नहीं दे सकता या नहीं देना चाहता इसलिए उसने ये साजिशो से जुड़े टेस्ट्स पाकिस्तान कि जमीन पर करवाए और प्लान बनाया। खतरनाक बात है कि पाकिस्तान कि लैब में वायरस ऑउटब्रेक मतलब इनके बहार निकलने पर इन वायरस को रोकने के कोई इंतज़ाम नहीं है। और फिर पाकिस्तान का क्या होगा?

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते