Ramdev Baba की Corona Kit और राजनीती,क्या भगवा कपडे पहनने वाले ने बनाया है इसलिए?

101
Tiktok का एक मात्र विकल App "99likes" डाउनलोड करे,जिसे आप वीडियो भी बना सकते है रे
Download 99likes

आज हम सबको पता है कि कोरोना की इस महामारी की वजह से हमारा देश झूझ रहा है। अब चाहे वो UK के प्रधानमंत्री ही क्यों न हो सारे हाथ नहीं मिला रहे हाथ जोड़ के बेंट कर रहे है आपस में। सारे लोग इम्युनिटी की बात कर रहे है और जो बड़े बड़े डॉक्टर्स और डिपार्टमेंट कह रहे थे हमारे पास साड़ी बीमारियों की दवा है अब हम सबसे लड़ लेंगे। आज वह सब हो गया गायब। एक छोटा सा वायरस जिसे हम देख नहीं सकते जिसके आगे अमेरिका, इटली, फ्रांस, और UK जैसे देश जो सबसे ऊपर थे हेल्थ सिस्टम में उनकी हालत खराब हो गई है। 

आज पूरी दुनिया इस कोरोना का समाधान ढूंढ रही है आयुर्वेद में, अलोपथी में और होमियोपैथी में भी। और भारत में भी सभी लोग समाधान ढूँढ रहे है आयुर्वेद में वहां रामदेव बाबा ने दवा ढूँढ ली है। पहले इम्युनिटी बूस्ट करने के लिए इन्होने और हमारे पूर्वज ऋषि मुनियो ने योग पहुंचाया देश भर में अब वही उन्होंने दवा की खोज भी कर ली है जिसमे उन्होंने केवल घरेलु सामान का इस्तेमाल किया है जिसका कोई भी साइड इफ़ेक्ट नहीं है। पूरी दुनिया योग कर रही है आज और हम भारत ने ही योग को दुनिया में पहुंचाया है। 

आयुर्वेद को बढ़ावा देने वाले ऋषि मुनियो ने बिना microsope के बता दिया हल्दी में एंटी-बैक्टीरियल, एंटी-वायरल जैसे गुण मौजूद है, और यह तो बरसो से हमारे पूर्वज भी इस्तेमाल करते आ रहे है। आयुर्वेद पता नहीं कितने सालो पुराना है। हर एक औषदि के गुण पतंजलि ने बताये है – चाहे वो पत्ते हो या फिर फल हो। 

पतंजलि को आखिर अनुमति क्यों नहीं दे रहे है?

और अब पतंजलि जो केवल आयुर्वेद को मानता है उन्होंने दवा खोजी है कोरोना की इस महामारी की जिसमे उन्हें अनुमति नहीं दी जा रही है? रामदेव बाबा ने सारे टेस्टिंग की है वैज्ञानिको सहित और फिर इसका निर्माण किया है – उन्होंने इसे साबित भी किया है किन्तु फिर भी उन्हें इसे कोरोना मरीज़ो को देने की अनुमति नहीं दी गई है। जब इस दवा का कोई साइड इफ़ेक्ट नहीं है तो क्यों एक बार इसकी जांच नहीं हो रही है। 

रामदेव बाबा ने इस दवा को करीबन 280 लोगो पर टेस्ट किया जो लोग कोरोना से ठीक हो चुके है। तो क्या कोई दबाव है दवा के विभाग को? अगर वे दवा कर रहे है तो एक बार जांच करना अनिवार्य नहीं है? शायद ये दवा सही हो? 

अगर उन्होंने प्रयास किया है तो इसे एस्ट करना चाहिए ? देखा जाये तो पतंजलि की इस दवा में अश्वंगधा, गिलोय और तुलसी है जो हमारे सेहत के लिए ऐसे ही भी काफी फायदेमंद है और उसी से यह दवा बनाई गई है – तो क्यों अनुमति नहीं मिल रही है?

क्या वह भगवा रंग पेहेनते है इसलिए?

जो मुस्लिम समुदाय के मौलाना थे उन्होंने इस महामारी के समय में इतनी भीड़ की और फिर अलग अलग हिस्सों में उन्हें भेज दिया गया – यहाँ किसी भी समुदाय या धर्म को गलत नहीं कह रहे है किन्तु गलत काम करने वाले लोग कोई धर्म के नहीं होते है – जिन्होंने इतना फैलाया उन्हें बचाया जा रहा है और जो इस कोरोना का समाधान खोज रहा है उनका विरोध कर रहे है ? आखिर क्यों? 

यह नहीं पता है की मौलाना पर FIR हुई या नहीं किन्तु आज 3 महीने बाद भी उन पर कोई कार्रवाई नहीं हुई है और वो कहा है कोई ढूंढ नहीं पाया है? कैसे?

महाराष्ट्र और राजस्थान में कोरोना फैला – तो इसमें कुछ लोगो का बढ़ा योगदान था और लापरवाही थी – चाहे वो किसी के धर्म के हो ? किन्तु पतंजलि के रामदेव बाबा ने यह दवा बनाई है तो क्यों उनपर इतना विरोध हो रहा है। यह नहीं कह रहे है कि उनकी दवा सही है पर क्या उसका टेस्ट भी नहीं कर सकते?

यह दवा केवल कोरोना के मरीज़ो को ठीक नहीं करती बल्कि सारे लोग जिनको कोरोना पॉजिटिव नहीं है उन्हें आगे कोरोना का वायरस प्रवेश करने के बाद भी पॉजिटिव नहीं होगा। 

अश्वगंधा, गिलोय और तुलसी सेहत के लिए फायदेमंद है फिर भी अनुमति नहीं?

अश्वगंधा गिलोय और तुलसी के प्रयोग से इम्युनिटी बूस्ट होगी – अश्वगंधा और अन्य उपकरणों का यह गुण तो चीन भी मानता है और इसे इस्तेमाल करता है। आज पूरा देश पूज्य स्वामी रामदेव बाबा पर ऊँगली उठा रहे उनके भक्तो को छोड़ – जिन्होंने इतनी बड़ी रिसर्च इंस्टिट्यूट बनाई है जिसका इनॉग्रेशन स्वयं सबके चहीते नरेंद्र मोदी जी ने किया था और यहाँ अमेरिका के वैज्ञानिको कि टीम काम करती है – उस लैब में खोजी हुई इस दवा पर कई सवाल और विरोध हो रहे है। 

शायद उनकी दवा गलत हो किन्तु क्या इसे टेस्ट करने में भी समस्या है? जिस चीज़ो से यह बनी है क्या उन चीज़ो का ऐसे आम ज़िन्दगी में उपयोग करना भी फायदेमंद माना जाता है तो इस कोरोना कि अगर यह दवा है तो क्यों नहीं? क्या यह अन्याय नहीं है? क्या इसे भी इसलिए विरोध कर रहे है कि बाबा रामदेव भगवा रंग पेहेनते है ?

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते