गर्भवती हथिनी की निर्मम हत्या, Kerala के मल्लपुरम में अनानास में बम डालके खिलाया

252
Tiktok का एक मात्र विकल App "99likes" डाउनलोड करे,जिसे आप वीडियो भी बना सकते है रे
Download 99likes

केरल, पलक्कड़, यहाँ पर एक काफी दुखद घटना सामने आई हैं | बताया जा रहा है कि एक मादा हाथी जो गर्भवती थी उसको अनानास के अन्दर पटाखे डालके खिलाया गया और वह उसके मुंह के भीतर फट गया | हथिनी घायल हो गयी और उसे असहनीय पीड़ा होने लगी जिसके चलते वह नदी में खड़ी हो गयी और कुछ देर बाद उसी नदी में उसके प्राण निकल गए | मल्लपुरम इलाके कि इस घटना ने सबको स्तब्ध कर दिया है | बताया जा रहा है कि मादा हाथी साइलेंट वैली नेशनल पार्क से थी और कुछ असामाजिक लोगों द्वारा उसके साथ ऐसा किया गया |

खबर के मुताबिक जिस इलाके में यह घटना हुई है वहां पटाखों को पहले से ही इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि वहां जंगली भालू कभी भी आ जाते हैं | इसको देखते हुए कुछ लोगों द्वारा अनानास के अन्दर बम डाल दिए गए और मादा हाथी को छल से खिला दिया और जब बम उसके मुंह के अन्दर फटे तब वह दर्द की वजह से भागने लगी |

जंगल से जुड़े हुए अधिकारी सोच रहे थे कि हथिनी इस हालत में तबाही मचा सकती है पर उसने कुछ नहीं किया | वह भागी पर कोई नुकसान नहीं किया और इसके बाद वह नदी में शांत खड़ी हो गयी | उसके पेट में एक बच्चा था जो कुछ समय उपरांत दुनिया में आ जाता |  27 मई को घाटित ही यह घटना बड़ी दुखद है क्योंकि हथिनी जब पानी में थी तब जल देवता ने उसकी पीड़ा को कुछ कम किया पर वह बच ना पाई |

मोहन कृष्णन (फारेस्ट अफसर, नीलाम्बुर सेक्शन) द्वारा इस मामले को सबके समक्ष रखा गया | जो रैपिड एक्शन टीम उसे बचने पहुंची थी उसको मोहन कृष्णन ने मार्गदर्शित किया था | वह इस घटना से काफी भावुक हो उठे और फेसबुक पर पोस्ट भी लिखी जो मलयाली भाषा में थी |

“वो मासूम बीस माह बाद एक नन्ही जान को इस दुनिया में लाने वाली थी और वह काफी भूखी थी | पर वह मूर्ख और मतलबी मानव व्यवहार से अनजान थी इसलिए उसने मौत का खाना इंसानी स्नेह समझ के ग्रहण कर लिया | मेरे सामने वो चेहरा है जो मेरी रूह को अन्दर से मरोड़ रहा है | उसने पानी में समाधी ली और अब हम उसे उसी जगह दफन करेंगे जहाँ उसने अपना बचपन गुज़ारा | बहन मेरी तरफ से पूरी मनुष्य जाति की माफ़ी स्वीकार करो” |

घायल हथिनी को इलाज चाहिए था इसलिए दो अन्य हाथियों को ले जाया गया था पर वह प्राण त्याग चुकी थी | उसका दम घुट गया था उसके लंग्स में पानी भर गया था जिस कारण मादा हाथी को ऑक्सीजन प्राप्त नहीं हुई |

डेविड अब्राहम (डॉक्टर डेविड, त्रिशूर) द्वारा “The New Indian Express” को बताया गया कि आज तक कई सारे हाथियों के पोस्टमॉर्टम किये गए पर इस बार उन्हें अंदरूनी पीड़ा हुई | उन्होंने मादा हाथी के भ्रूण को हाथ में लेकर दिखाया और तब पता चला पाया था कि यह हथिनि गर्भवती थी |

इस वर्ष एक और ऐसी घटना हुई थी जहाँ पर ऐसे ही हत्या की गयी थी | जंगल अधिकारीयों के अनुसार बफर जोन में यह घटना हुई जो काफी चौंकाने वाली है और इसके चलते बाउंड्री पर पेट्रोलिंग के साथ साथ इंटेलिजेंस नेटवर्क को भी मज़बूत किया गया है | जांच जारी है और दोषी जल्द ही पकडे जायेंगे |

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते