Congress समर्थक साकेत गोखले – हाथरस केस में नार्को टेस्ट रुकवाने के लिए पहुँचा हाई कोर्ट – 12 अक्टूबर को होगी सुनवाई!

1587
Facebook
Twitter
Pinterest
WhatsApp

कॉंग्रेस के साकेत गोखले ने अपनी याचिका में अदालत से हाथरस मामले के पीड़ित परिवार के नार्को टेस्ट पर तत्काल रोक लगाने का आग्रह किया है। यूपी के सीएम योगी आदित्य नाथ ने 2 अक्टूबर को इस मामले के शिकायत कर्ता, आरोपितों और इससे जुड़े पुलिस कर्मियों के टेस्ट का ऑर्डर दिया था।

सूत्रों के मुताबिक – कॉंग्रेस समर्थक गोखले के अनुसार –

Narco test तो एक तरीका है पीड़ित के परिवार को परेशान करने का और इसका मुख्य मकसद कोर्ट के समक्ष गवाही के वक्त उन्हें भयभीत करना है। ताकि परिवारवालों को न्यायालय के सामने गवाही के समय भयभीत किया जा सके। 

गोखले का कहना है कि –

इस तरह ज़बरदस्ती करना न्यायलय के आदेशों का उल्लंघन है।

दायर याचिका में क्या है?

पीड़ित परिवार का नार्को टेस्ट प्राकृतिक न्याय के सभी सिद्धांतों के खिलाफ है, क्योंकि उन पर कोई आरोप नहीं है। मनीषा के परिवार के साथ ऐसा करना एक तरह की जोर-जबरदस्ती है।

इलाहाबाद हाई कोर्ट ने सुनवाई होगी 12 अक्टूबर के दिन। उम्मीद जताई जा रही अही की 12 अक्टूबर के दिन गवाही देने के पीड़ित परिवार अदालत में पेश होंगे।

सीएम योगी आदित्यनाथ जी का था फैसला –

उत्तर प्रदेश के सीएम का था फैसला इस हाथरस मामले में। उन्होंने ऐलान किया था कि इस मामले में जितने भी लोग है उनका नार्को टेस्ट करवाया जाए ताकि सच्चाई का पता लग सके। उन्होंने ट्वीट भी किया था कि यूपी में जो भी महिलाओं को नुकसान पहुंचा की सोच रखने वालों को किसी तरह बख्शा नहीं जाएगा। हाथरस मामले में योगी सरकार ने प्राथमिक जाँच की रिपोर्ट के आधार पर प्रशासन द्वारा बरती गई लापरवाही पर सख्त रुख अपनाते हुए हाथरस के एसपी, डीएसपी, इंस्पेक्टर और कुछ अन्य अधिकारियों को निलंबित करने का भी निर्देश दिया था। 

हाथरस केस में ऑडियो लिक 

कल हाथरस केस में कुछ ऑडियो भी लीक हुए थे। इनमें हुई बातचीत से पता चलता था कि –  राज्य में भाजपा सरकार को नीचा दिखाने के लिए राजनेता और मीडिया इस मुद्दे का राजनीतिकरण करने की कोशिश कर रहे हैं। 

वहीं एक अन्य ऑडियो में एक अज्ञात व्यक्ति मृतक के भाई संदीप से बात कर रहा था जिसमें उनसे वह अज्ञात व्यक्ति कहता है कि कई मत जाइएगा  क्योंकि, कॉंग्रेस की वरिष्ठ नेता प्रियंका गाँधी उनके घर आने वाली हैं। इस बातचीत में व्यक्ति यह भी कहा गया था कि यदि, कोई तुम्हें कई भी ले जाए तुम्हें नहीं जाना है।

सूत्रों के मुताबिक –

ऑडियो में यह भी कहा गया है उन्हें (प्रियंका गाँधी को) बताना है- पुलिस प्रशासन दबाव बना रहा है। मीडिया को आने नहीं दे रहा और बहार के रिश्तेदारों को आने नहीं दे रहा । कहना है ये हमारे प्रोटेक्शन में लगा रखे हैं या ठाकुरों के प्रोटेक्शन में। ठीक है, ये सब उनको बताना है।”

संदीप के पिता और दो अन्य लोग कुछ कॉंग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ उनके पास बैठे हैं। फिर वह आदमी संदीप से कहता है। ठीक है, कहीं मत जाना। अब प्रियंका गाँधी आएँगी और उन्हें बताना है कि तुम पर दबाव बनाया गया है और तुम इसका वीडियो बनाना चाहते हो

यह पहली बार गोखले ने ऐसा नहीं किया है। इससे पहले भी गोखले ने राम मंदिर भूमिपूजन को रोकने के लिए कोर्ट का रुख लिया था।

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते