Rajiv Gandhi हत्याकांड की महिला आरोपी नलिनी श्रीहरन ने जेल में जहर पीकर की जान देने की कोशिश

281
Facebook
Twitter
Pinterest
WhatsApp

वेल्लोर जेल मे कैद राजीव गाँधी हत्याकांड की महिला आरोपी नलिनी श्रीहरन ने बीती रात जेल में जहर पीकर जान देने की कोशिश की । नलिनी श्रीहरन के वकील पुगलेंती ने बताया कि उनका जेल में एक महिला कैदी से झगड़ा हुआ था और उसे भी उम्र कैद हुई है । नलिनी श्रीहरन 29 साल से वेल्लोर जेल में कैद है और यह पहला मौका है जब उसने ऐसा कदम उठाने की कोशिश की है ।

फिलहाल नलिनी की हालत ठीक है और नलिनी श्रीहरन के पति मुरुगन ने उन्हें दूसरे जेल में ट्रांसफर करने की मांग की है ।  नलिनी श्रीहरन के वकील का कहना है कि नलिनी के पति की इस मांग को लेकर वो कार्ट का दरवाजा खटखटाएंगे । वेल्लोर जेल में नलिनी श्रीहरन की जान को खतरा हो सकता है।

नलिनी ने ही आत्मघाती लड़की धनु को तैयार किया था-

ज्ञात हो कि, 21 मई 1991 को तमिलनाडु के  श्रीपेरंबदूर में हुए एक धमाके में पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी की मौत हो गई थी ।  इस हत्याकांड की साजिश श्रीलंका में रची गई थी । नवंबर, 1990 में श्रीलंका के जाफना में साजिश रचने वालों में लिट्टे प्रमुख प्रभाकरन और उसके चार साथी बेबी सुब्रह्मण्यम, मुथुराजा, मुरुगन और शिवरासन शामिल थे ।

नलिनी श्रीहरन ने धनु नाम की लड़की के शरीर पर बम बांधकर राजीव गांधी के पास भेजा था । नलिनी के घर पर ही उसे पूरी प्रैक्टिस करवाई गई थी । 21 मई को श्रीपेरंबदूर में रैली के दौरान धनु ने राजीव गांधी को माला पहनाई, पैर छूए और बम ब्लास्ट हो गया । इस बम धमाके में कई लोगों की जान चली गई थी और कई लोग घायल हुए थे | इस कृत्य के लिए नलिनी को गिरफ्तार कर सजा सुनाई गयी थी |

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते