मथुरा में राम मंदिर को लेकर याचिका दाखिल – 13.37 एकड़ जमीन खाली कराई गई – श्री कृष्ण को लेकर।

70

राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला। 13.37 एकड़ की श्री कृष्ण जन्मभूमि को लेकर यूपी के मथुरा की अदालत में एक सिविल सूट याचिका दायर की गई है। यह विनीत जैन ने श्री कृष्ण विराजमान ’की ओर से कि है। इसमें कहा गया है कि हिंदुओं को कटरा केशव देव की पूरी भूमि पर विश्वास है।

क्या कहा गया है याचिका में?

इसमें कहा गया है कि – कटरा केशव देव वही क्षेत्र है जहां भगवान कृष्ण का जन्म राजा कंस की जेल में हुआ था और यह पवित्र स्थल मस्जिद के नीचे स्थित है। मुगल सम्राट औरंगज़ेब को मथुरा में स्थित जो श्री कृष्ण जन्मभूमि मंदिर है वहां के विध्वंस के लिए जिम्मेदार ठहराया गया है। याचिका में लिखा है कि औरंगजेब एक इस्लामिक था और उसने 1669-70 में मंदिर को गिराने का आदेश जारी किया

याचिकाकर्ता की ओर से पेश वकील हरी शंकर जैन और विष्णु शंकर जैन ने TTI को बताई मांग। मथुरा में श्री कृष्ण जन्मभूमि पर हुए अतिक्रमण को हटाया जाए और वहां का ढाँचा तैयार किया जाए। अयोध्या जजमेंट के बाद से काशी विश्वनाथ और मथुरा को फिर से बसाने की मुहिम शुरू हो गई। औरंगज़ेब ने काशी में विश्वनाथ मंदिर को पहुंचाया नुकसान और बनवाई मस्जिद।

श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्य गोपाल दास ने बताया था कि –

श्री कृष्ण जनभूमी को लेकर मथुरा में कोई विवाद नहीं होगा। मंदिर मस्जिद को लेकर भी कोई आंदोलन नहीं होगा। किन्तु, अब तो यह मामला कोर्ट तक पहुंच चुका है।

याचिकाकर्ता की ओर से पेश वकील हरी शंकर जैन और विष्णु शंकर जैन ने TTI को बताई मांग। मथुरा में श्री कृष्ण जन्मभूमि पर हुए अतिक्रमण को हटाया जाए और वहां का ढाँचा तैयार किया जाए। अयोध्या जजमेंट के बाद से काशी विश्वनाथ और मथुरा को फिर से बसाने की मुहिम शुरू हो गई। औरंगज़ेब ने काशी में विश्वनाथ मंदिर को पहुंचाया नुकसान और बनवाई मस्जिद।

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते