चीन को नुक्सान पहुंचाने का बढ़ा फैसला लिया Yogi सरकार ने – नहीं लगेंगे चीन के बिजली मीटर।

313
Tiktok का एक मात्र विकल App "99likes" डाउनलोड करे,जिसे आप वीडियो भी बना सकते है रे
Download 99likes

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) – यूपी में बिजली विभाग सारे घरो से चीन के मीटर हटाएगा और लगाएंगे नए बिजली मीटर। सीमा पर तनाव बढ़ने की वजह से चीन के प्रति लोगो का क्रोध आसमान छू रहा है।

और चीन को नुक्सान पहुंचाने के लिए उत्तर प्रदेश में योगी सरकार ने चीनी उपकरण और मीटर के इस्तेमाल पर रोक लगा दिया है। इतना ही नहीं बल्कि जो चीनी मीटर पहले से लग चुके है उसे भी तुरंत हटाने का आदेश दे दिया है। वही विभाग से आदेश आने के बाद गोरखपुर में अभियंताओं ने 15 हज़ार बिजली कनेक्शनों में लगे चीनी मीटर को हटाकर स्मार्ट मीटर लगाने का फैसला किया है। 

लखनऊ में Power Corporation द्वारा इन स्मार्ट मीटर को लगाने पर भी रोक लगायी गई है क्योंकि यह मीटर इंडोनेशिया से ख़रीदे थे। और यह दावा किया जा रहा है कि यह इंडोनेशिया कि कंपनी चीन कि बताई जा रही है। 

ऊर्जा मंत्री ने दिया आदेश। 

ऊर्जा मंत्री श्रीकांत शर्मा बता रहे है कि उन्होंने ट्रांसमिशन और उत्पादन से जुड़े अधिकारियों को आदेश दे दिया है कि वे भविष्य में किसी भी चीनी उत्पादों का इस्तेमाल ना करे। ऊर्जा मंत्री के निर्देश के तुरंत बाद गोरखपुर जिले में रहने वाले अभियंतीओ ने शहर के कई अलग अलग क्षेत्रों में रह गए 1.50 लाख कनेक्शनों में से 10% कनेक्शनों पर लगे हुए 15 हज़ार चीनी मीटर को हटा कर स्मार्ट बिजली मीटर लगाने की योजना बना ली है। 

चीनी कंपनी में यह मीटर बनने का दावा। 

राज्य उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने EESL के अनुसार राज्य में भेजे 8000 स्मार्ट मीटर जो चीन में निर्मित होने का दावा किया जा रहा है – उस पर भी रोक लगाने की मांग की थी। परिषद ने ऊर्जा मंत्री को बताया कि – चीन कि हेक्सिंग इलेक्ट्रिकल कंपनी लिमिटेड कंपनी ने ही इंडोनेशिया में अपनी मुखिता कंपनी खोलकर हेक्सिंग के नाम से स्मार्ट मीटर के आर्डर प्राप्त किए थे। यह शिकायत के पश्चात् ऊर्जा मंत्री ने जांच करने का निर्देश दिया था। 

रोका गया चाइनीज़ मीटर लगाना। 

UPPCL के निर्देशक A K श्रीवास्तव ने बताया कि जो 8000 स्मार्ट मीटर उस कंपनी द्वारा आए थे अभी तक उनमे से एक भी लगाए नहीं गए है। और इसी के साथ EESL भी इस बात की जांच कर रहा है कि यह मीटर चीनी कंपनी के है या नहीं? जांच को देख कर फ़िलहाल इस मीटर पर रोक लगा दी है। 

यह कदम से भारतीय और खास कर यूपी के लोग योगी जी को धन्यवाद भी कर रहे है

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते