मेवात महंत घटना ने लिया नया मोड़- Police ने संगठन कार्यकर्ताओं पर किया केस दर्ज

21
Tiktok का एक मात्र विकल App "99likes" डाउनलोड करे,जिसे आप वीडियो भी बना सकते है रे
Download 99likes

हरियाणा | यहाँ पुन्हाना में महंत रामदास के ऊपर जो हमला हुआ था उसके चलते पुलिस का कोई रुख ना देखते हुए हिन्दू संगठनों के लोग जमा हो गए | इसको देखते हुए ड्यूटी मजिस्ट्रेट ने उनके खिलाफ ही कार्यवाही कर दी | उनके अनुसार इन लोगों ने लॉक डाउन का उल्लंघन किया है | इसके अलावा धार्मिक असहिष्णुता फैलाने का आरोप भी उनपर लगाया गया है | इसके चलते करीब दो सौ लोगों पर केस दर्ज हुआ है और इनमे से 38 नामज़द हैं | हिन्दू संगठनों ने कहा है कि इसके खिलाफ हाई कोर्ट में अपील की जाएगी |

मुस्लिम क्षेत्र में हुआ था महंत पर हमला-

बता दें कि तीस अप्रैल को मुस्लिम क्षेत्र में महंत पर हमला हुआ था जहाँ बदमाशों ने उनके धर्म पर असंवैधानिक टिप्पणी कर दी थी | इस मामले के बाद हिन्दू संगठनों के द्वारा पुलिस को शिकायत की गयी थी और इसके खिलाफ कठोर कार्यवाही करनें का आग्रह किया था | परंतु पुलिस ने कोई कदम नहीं उठाया और उल्टा आपस में बातचीत करके मामले को ख़त्म करने की हिदायत दे दी |

अमित कुमार (ड्यूटी मजिस्ट्रेट) ने कहा कि हमें मेवात जिले के पुन्हाना के मुस्लिम क्षेत्र में महंत रामदास के ऊपर हमले की शिकायत मिली थी | परंतु धर्म संगठनों ने आरोप लगाया है कि मामले की जांच के बजाय उनके कार्यकर्ताओं पर ही मामला दर्ज कर लिया गया है | परंतु अमित कुमार ने बताया है कि इन लोगों ने देश बंद का उल्लंघन किया है और धर्मशाला में साथ मिलकर नारेबाजी की है | इससे न सिर्फ सोशल डिस्टेंसिंग का नियम टूटा बल्कि कोरोना फैलने का खतरा भी बढ़ गया इसलिए इन लोगों पर कार्यवाही की है | परंतु संगठनो का कहना है कि ऐसा कुछ भी नहीं हुआ और वह लोग सिर्फ आरोपियों को पकड़ने की मांग को लेकर इकठ्ठा हुए थे |

पुलिस ने भी किया है उल्लंघन-

संगठन कार्यकर्ताओं का कहना है कि पुलिस ने भी उल्लंघन किया है और वह हमे गलत ठहरा रही है | इससे पहले भी एक घटना हुई थी और इस दौरान पुलिस ने मुस्लिम्स का साथ दिया और भारी मात्रा में इकट्टा हो गए थे | क्या इससे सोशल डिस्टेंसिंग का नियम नहीं टूटा परंतु इस मामले में संगठन के सभी कार्यकर्ताओं ने सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पूरा ख़याल रखा है |

महंत को धमकी देने वालो को गिरफ्तार करो-

संगठन प्रमुखों ने कहा है कि महंत को लगातार धमकियाँ मिल रही है और पुलिस ने इस पर चुप्पी साध ली है | पर पुलिस के अनुसार महंत को जिसने धमकी दी थी उसका नाम धरुरा है और उसे पकड़ा जा चुका है |

उल्लेखनीय है कि महंत ने बताया था कि कि कुछ दिनों पहले उनपर भीड़ ने हमला किया था और उन्हें जान से मारने की मंशा से उनके पीछे लोग भागे थे | परंतु वे बच निकले और और उन्होंने ने यह भी बताया था कि हमलावर साधुओं को जलाकर मारने की बात कर रहे थे |

हमले वाले दिन रामदास महंत दवाई की दुकान से लौट रहे थे जो जमालगढ़ रोड पर है | वहां एक पान दुकान के सामने खड़े एक सब्जी विक्रेता ने उनसे अभद्र बात की थी और बदतमीज़ी भी की थी | उनके विरोद्ध पर कुछ ही देर में कई लोग हथियारों के साथ वहां पहुँच गए थे | जैसे ही मामले की खबर लगी पंचायत बैठ गयी जिसमे कहा गया साधुओं और संतों के साथ ऐसा व्यवहार नज़रंदाज़ नहीं किया जाएगा | पालघर के बाद ऐसा लगता है जैसे साधू संत और भगवा झंडा निशाने पर आ गए हैं |

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते