कभी देखा है Police का ऐसा रूप, रोते हुए मासूम को गले से लगाया

25
Tiktok का एक मात्र विकल App "99likes" डाउनलोड करे,जिसे आप वीडियो भी बना सकते है रे
Download 99likes

लॉकडाउन के चरण में पुलिस ने लोगों के साथ सख्ती भरा बर्ताव किया ताकि लॉकडाउन का पालन अच्छी तरह से हो सके पर इसी बीच पुलिस का मानवीय रूप भी देखने को मिला | संभल जनपद में लॉकडाउन के समय जब एक बच्चा सड़क के किनारे रो रहा था तब पुलिस कप्तान से रहा नही गया और उन्होंने उस मासूम बच्चे को तुरंत गोद में उठा लिया | उस बच्चे को दिलासा देते हुए उसके माता पिता को खोजकर बच्चे को उन्हें सौंप दिया गया |

क्या था मामला ?

यमुना प्रसाद (पुलिस अधीक्षक) संभल की सदर कोतवाली के अंतर्गत लॉकडाउन की स्थिति का मुआयना करने अन्य पुलिस जवानों के साथ पैदल घूम रहे थे | सख्ती के कारण शहर में सड़के सुनसान पड़ी थी लेकिन मुख्य बाजार पहुँचने पर पुलिस अधीक्षक को 3-4 वर्ष का मासूम बच्चा सड़क पर रोता बिलखता मिला | उन्होंने उससे उसका पता एवं उसके रोने का कारण पुछा परंतु वह पुलिस वालों को देखकर और ज्यादा रोने लगा | यह देखते हुए यमुना प्रसाद ने उस मासूम बच्चे को गोद में लिया और गले लगाकर चुप कराया और अपनत्व की भावना महसूस करते हुए बच्चे ने रोना बंद कर दिया | उसके बाद मासूम को कोतवाली लाया गया और यहाँ सेनेटाइज करने के उपरांत उसे मास्क पहनाया |

परिजनों को सौंपा-

पुलिस का अपनत्व देखकर बच्चा शांत हुआ फिर उससे उसके परिजनों के बारे में पूछा गया | जिस इलाके से बच्चा मिला था वहां उसके परिजनों की तलाश की गयी और जब परिजनों ने अपने मासूम बच्चे को देखा तब उनका मन शांत हुआ | बच्चे के पिता के अनुसार घर में जब माता पिता सो रहे थे तक बच्चा बहार निकल आया और जब वे नींद से जागे तब बच्चा घर के अन्दर मौजूद नहीं था | पुलिस ने अपनी पड़ताल पूरी करने के बाद मासूम को उसके पिता के हवाले कर दिया |

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते