Arvind Kejriwal Government का श्रमिकों की आड़ में वाहवाही लूटने का प्रयास विफल

45
Tiktok का एक मात्र विकल App "99likes" डाउनलोड करे,जिसे आप वीडियो भी बना सकते है रे
Download 99likes

दिल्ली में अरविन्द केजरीवाल की सरकार में मंत्री गोपाल राय ने ट्वीट किया था 1200 श्रमिक जो फसे हुए हैं उन्हें बिहार पहुँचाया जाएगा और जो भी किराया होगा उसे सरकार के द्वारा वहन किया जाएगा | परंतु अब एक ऐसा पत्र मिला है जिसमे दिल्ली सरकार ने बिहार की सरकार से किराया माँगा है |

इस मामले के सामने आने से बिहार और दिल्ली दोनों जगहों की राजनीती में हलचल शुरू हो गयी है | इस दौरान (JDU) जदयू एवं BJP दोनों ने ही दिल्ली सरकार के ऊपर भ्रमित करने का इलज़ाम लगाया | नेताओं ने यह भी कहा कि कांग्रेस की भांति आप भी ऐसी स्थिति में लाभ उठाना चाहती है |

इसी बीच AAP ने भी पलटवार करते हुए कहा कि बिहार की सरकार द्वारा भाड़ा देने से साफ़ मना कर दिया गया है एवं अब प्रवासी श्रमिकों का किराया दिल्ली सरकार ही अदा करेगी | इसके अलावा AAP ने एक विडियो भी अपलोड किया है जिसमे ट्रेन मुज्ज़फ्फरपुर जा रही है | यह विडियो आधिकारिक ट्विटर अकाउंट पर आया एवं अरविन्द केजरीवाल (मुख्यमंत्री, दिल्ली) ने भी शेयर किया है |

इसके साथ साथ एक और विडियो आया जिसमे अरविन्द केजरीवाल द्वारा बिहार और उत्तर प्रदेश के श्रमिकों को आश्वस्त किया गया कि कोरोना काल में दिल्ली सरकार हमेशा उनके साथ है | इसका जवाब अजय आलोक (प्रवक्ता, JDU) ने दिया, उन्होंने एक पत्र को ट्विटर पर अपलोड किया जिसे पी. के. गुप्ता (नोडल अधिकारी, दिल्ली सरकार) ने प्रत्यय अमृत (प्रधान सचिव, आपदा प्रबंधन डिपार्टमेंट, बिहार) को भेजा था |

इस पत्र में लिखा गया है कि 1200 श्रमिकों को भेजने में करीबन 6.5 लाख रुपये खर्च होंगे जिसे दिल्ली सरकार फिलहाल वहन कर लेगी परंतु कुछ समय बाद बिहार सरकार द्वारा यह राशि वापस दिल्ली सरकार को लौटानी होगी | अजय अलोक ने इसपर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की और कहा यह बिहारियों का अपमान है एवं इसके लिए माफ़ी मांगनी चाहिए | उन्होंने यह भी कहा कि अरविन्द केजरीवाल एवं पूर्ण दिल्ली सरकार की इस राजनीति से वह खासे नाराज़ हैं |

कुछ हो न हो पर इस पत्र ने एक बात साफ़ तौर पर ज़ाहिर कर दी है कि कोरोना काल में श्रमिकों की आड़ में अरविन्द केजरीवाल सरकार मीडिया में अपनी छवि को ऊँचा करना चाहती है | एक तरफ किराया नहीं लेने का दावा तो दूसरी तरफ बिहार सरकार से भाड़े की मांग दोहरी राजनीती को दर्शाता है |

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते