Aligarh में मासूम बच्चे सैनिकों की वीरगति का बदला China से लेने निकले- Police ने भेजा घर

50
Tiktok का एक मात्र विकल App "99likes" डाउनलोड करे,जिसे आप वीडियो भी बना सकते है रे
Download 99likes

लद्दाख में चीनी सैनिकों और भारतीय सेना के मध्य खूनी झड़प के चलते भारत के 20 सैनिक वीरगति को प्राप्त हो गए और इस चीज़ का गुस्सा हर देशवासी के अन्दर उबाल मार रहा है | चीन का पुरजोर विरोध हो रहा है व्यापारी चीनी सामान जला रहे हैं और कहीं चीन के राष्ट्रपति का पुतला जलाया जा रहा है | सोशल मीडिया पर भी चीनी सामान के बहिष्कार का कैंपेन चलाया जा रहा है |

अनोखी घटना देखी गयी-

“हम अपने जवानों के हर एक लहु के कतरे का बदला चीन से लेंगे” ऐसे पोस्ट भी देखे जा सकते हैं | परंतु अलीगढ (उत्तर प्रदेश) में अक अनोखी घटना देखी गयी और इस घटना से सच में सेना पर जवानों का मनोबल बढ़ जायेगा | यहाँ पर 10 छोटे बच्चे जवानों और भारत माता को हुई क्षति का बदला लेने निकल पड़े | सूचना के अनुसार गभाना के थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम अमरदपुर में निवासरत दस बच्चे चीनी सेना से भारत के शहीद जवानों का बदला लेने निकल पड़े | परंतु डोरू मोड़ पर पुलिस ने इन्हें देखते ही रोक लिया और इसके उपरांत उनके अभिभावकों को बुलाया गया और समझाइश देकर लौटा दिया गया |

हर भारतवासी आक्रोशित है-

15 जून को पूरी प्लानिंग के साथ चीनी सेना ने भारतीय सेना पर हमला किया था | लाठी, बेसबॉल बल्ले जिनपर कंटीला तार लिपटा था और पत्थर जैसे हथियारों से भारतीय जवानों पर हमला बोला गया | 20 सैनिक वीरगति को प्राप्त हुए पर उन्हें एक करारा जवाब भी मिल गया जिसके बाद चीन शांति वार्ता की माला जपने लगा |

जवानों द्वारा चीन के कमांडिंग अफसर को मारा गया और उसके बाद काफी सारे चीनी सैनिक भी मारे गए और कई घायल हुए और चीन ने बदनामी से बचने के लिए मृत सैनिकों की सूचना जारी ही नहीं की | हर भारतवासी इस घटना के बाद आक्रोशित है और चीन का खुलकर विरोध कर रहा है |

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते