भारत अमेरिका जापान इज़राइल जैसे अनेक देश दे रहे भारत का साथ चीन के लिए खतरे की घंटी

2936
Tiktok का एक मात्र विकल App "99likes" डाउनलोड करे,जिसे आप वीडियो भी बना सकते है रे
Download 99likes

भारत चीन की सीमा के बीच के सीमा तनाव प्रति दिन एक नया मोड़ ले रहा है। दोनों ही सरकारों के साथ दोनों तरफ की सेनाएं तैयारियों में लगी हुई है।  कहने के लिए चीन अपने माउथपीस ग्लोबल टाइम्स के माध्यम से शांति प्रस्ताव दुनिया के सामने बार बार रख रही है किन्तु दूसरी तरफ अपना असली रूप लदाख की सीमा पर अपनी सेना की संख्या को बढ़ा कर भारतीय सेना को दिखा रही है। इतना ही नहीं अपने अलग अलग हथियारों को भी जमा कर रही है अब ऐसे में सवाल यह उठ रहा है कि चीन के दो तरफ़ा चेहरों पर से किस चेहरे पर भरोसा किया जाए और किस पर नहीं? किन्तु जनता और सैनिको उसके सीमा पर दिखाए जाने वाले रूप को चीन कि असलियत मान रही है। 

Also read – 59 एप्स बंद करने से चीन में अब मचा हड़कंप – देने लगे नियम कानून की दुहाई।

इस परिस्थिति को देख कर भारत भी हर घटना और हमले के लिए खुद को तैयार कर रहा है और अपनी हर तैयारी को आखरी रूप दे रहा है। इस वजह से भारत की सेना भी अधिक संख्या में लदाख की सीमा पर तैनात हो चुकी है और अभी 2 दिन पूर्व ही भारत की सेना के और 3 यूनिट वहां  तैनात किये गए। इसके अलावा हमला करने वाले हेलिकोप्तेर्स भी अधिक संख्या में लड़ाकू विमान लड़ाकू टैंक टी 90 भिस्मा के अलावा अर्जुन तांडव जैसे टैंक भी तैनात कर दिए गए है। 

चीन के विनाश की तैयारी जारी है। 

इन सारी तैयरियों के बीच में अमेरिका ने चीन के हेकड़ी निकालने का एक तरीका सोचा है उसने प्रशांत महासागर में चीन कि सीमा के नज़दीक ही कई देश की सेना इकट्ठा हो रहे है। इसको एक नाम दिया है नौ सैनिक युद्धाभ्यास से घोषणा की है। इसमें एक साथ 25 देश की सेना तैनात कर नगर आएगी जिसकी किसी न किसी तरह चीन से विवाद चल रहा है। चीन के विरोधी को एक ही जगह इकट्ठा करने के इस कदम पर चीन ने अपने खिलाफ खतरा वो भी बहुत बड़ा खतरा मोड़ लिया है। वह जानते भी है और समझ भी रहे है की उसके खिलाफ बहुत ही तबाही और विनाश की तयारी हो रही है। 

चीन के पछतावे का समय अब दूर नहीं। 

इसमें सभी देशो के नाम से ही चीन की नींद उड़ जाएगी। यह सैन्य जमावड़ा उसी जगह पर होने वाला है जहा अमेरिका के 3 विशाल जंगी जहाज चीन की सीमा के पास खड़े होंगे। अमेरिका का यह कदम तब उठाया गया जब चीनी नौसेना ने उसी दक्षिण महासागर में अमेरिका जहाजों से कुछ अंतर पर एक बिस्फोट का सैन्य अभ्यास किया और एक सन्देश देना चाहा किन्तु चीन का यह कदम अमेरिका को पसंद नहीं आया और उसने चीन को जवाब सुध समेत लौटाने की योजना तैयार कर ली। 

और अब उसका जवाब अमेरिका सैन्य जमावड़ा के रूप में देगा और रक्षा विशेषज्ञ का कहना है कि कई देशो के सैनिकों का टीम एक युद्धाभ्यास नहीं है इससे कही अधिक है क्योंकि देश भी इसमें शामिल हो रहे है और उनमे से ज्यादातर सेनाएँ इस वक़्त चीन के खिलाफ है तो चीन के लिए यह एक सरप्राइज गिफ्ट भी हो सकता है। भारत कि सेना लदाख में – अमेरिका की सेना इंडो पसिफ़िक महासागर में और जापान मिसाइल तैनात कर बैठा है तो वियतनाम लड़ाकू विमान से चीन को निरंतर हेलो हाय कर रहा है। सभी चीन को एक ही सन्देश दे रहे है की यदि उसने अपनी हरकते ठीक नहीं की तो पछताएगा और वो समय अब दूर नहीं। 

अमेरिका, भारत, इज़राइल, साउथ कोरिया, फ्रांस, जर्मनी, कनाडा, औस्ट्रेलिए, ब्रिटैन, ब्राज़ील, मेक्सिको, इंडोनेशिया, कोलंबिया, मलेशिया, ब्रूनेई, नेथरलैंड, नूज़ीलैण्ड, फ़िलीपीन्स, सिंगापुर, थाईलैंड, श्रीलंका, वियतनाम, ताइवान इत्यादि देश चीन के खिलाफ खड़ी हो सकती है ।  ड्रैगन की जान अब मकड़ी की जाल में फंसती हुई दिख रही है और देखना यह है कि इससे कैसे अपने आपको वह संभालता है ?

हमरा सहयोग करे, कुछ दान करे , ताकी हम सचाई आपके सामने लाते रहे , आप हमरी न्यूज़ शेयर करके भी हमरा सहयोग कर सकते